FAQ

छत्रपति शिवाजी विद्यार्थी परिषद (सी.एस.वी.पी) क्या है? और कौन-कौन इस संगठन की सदस्यता हासिल कर सकते हैं। उ० - जैसा कि आप जानते हैं कि न तो सीखने की कोई आयु होती है और न काम करने की। तो जो समाज व रास्ट्रहित मे अपना योगदान देने वाले व्यक्ति हैं चाहे वे किसी भी उम्र के क्यों न हों, वे सी.एस.वी.पी मे सदस्यता हासिल कर सकते हैं। सी.एस.वी.पी के कार्यकर्ता हर इंसान की हर उचित सहायता के लिये प्रतिक्षण तत्पर रहतें है और समाज व रास्ट्रहित के कार्य मे अपना योगदान देंते हैं - जैसे 1. होनहार विद्यार्थियों, खिलाडियों व उत्कृष्ठ व्यक्तियों का सम्मान करने के लिये समय-समय पर कार्यक्रम आयोजित करना सी.एस.वी.पी का मुख्य ध्येय है। 2. यदि किसी को रक्त की आवश्यकता है तो सी.एस.वी.पी के सदस्य सभी की सहायता के लिये तैयार रहते हैं। इसके साथ-साथ यदि किसी रक्त केंद्र को भी रक्त की आवश्यकता होती है तो इसके लिये भी केंद्र की मांग पर रक्तदान शिविर लगवाना सी.एस.वी.पी का ध्येय है। 3. कालेज, विश्वविद्यालय, सरकारी दफ्तर व अन्य सार्वजनिक स्थानों पर हेल्प डेस्क लगा कर लोगों के लिये पथ प्रदर्शक का कार्य करना व नये व अनभिज्ञ लोगों व विद्यार्थियों के फार्म भरवाना व अन्य कार्य करना इत्यादि जैसे बहुत से कार्यों मे सी.एस.वी.पी के कार्यकर्ता अपना योगदान देते हैं। 4. किसी व्यक्ति विशेष व बहुल की आवश्यकतानुसार अपनी योग्यता व क्षमतानुसार सी.एस.वी.पी के कार्यकर्ता एकल व सामुहिक सहायता मे योगदान देते हैं। 5. भ्रष्ट नेता, रिश्वतखोर व कामचोर प्रशासनिक कर्मचारी व अधिकारियों को आईना दिखाना, जमाखोर व मुनाफाखोर व्यापारियों का विरोध करना, अपने पद का दुरुप्योग करने वाले के खिलाफ मोर्चा निकालना भी सी.एस.वी.पी के कार्यों मे शामिल है। यदि आपमे भी यह सब करने का जज्बा है तो ही छत्रपति शिवाजी विद्यार्थी परिषद का हिस्सा बने। http://csvpbharat.org/?q=node/add/membership-request

User login